भारतीय साइबर क्राइम समन्वय केन्द्र (आई4सी) योजना का ब्योरा

क्र. सं शीर्षक डाउनलोड/लिंक
1 आई4सी योजना का संक्षिप्त विवरण
2 आई4सी योजना के घटक
3 राष्ट्रीय साइबर थ्रेट विश्लेषण यूनिट (TAU)
4 राष्ट्रीय साइबर क्राइम रिपोर्टिंग पोर्टल
5 संयुक्त साइबर क्राइम जांच टीम के लिए प्लेटफार्म
6 राष्ट्रीय साइबर क्राइम फोरेन्सिक प्रयोगशाला पारिस्थितिकी
7 राष्ट्रीय साइबर क्राइम प्रशिक्षण केन्द्र (NCTC)
8 साइबर क्राइम पारिस्थितिकी प्रबंधन यूनिट
9 राष्ट्रीय साइबर अनुसंधान एवं नवोन्मेषण केन्द्र


I. आई4सी योजना का संक्षिप्त विवरण

  • साइबर क्राइम के विरुद्ध लड़ने में नोडल बिंदु के रूप में कार्य करना
  • एलईए की अनुसंधान समस्याओं/जरूरतों की पहचना करना और भारत एवं विदेश में शैक्षणिक अनुसंधान संस्थाओं के सहयोग से नई प्रौद्योगिकियां और फोरेन्सिक उपकरण विकसित करने में आर एंड डी कार्यकलाप शुरू करना
  • यह योजना 415.86 करोड़ रुपये के परिव्यय के साथ प्रस्तावित है और दो वर्ष तक चलती रहेगी
  • अतिवादियों और आंतकवादियो की गतिविधियों को रोकने के लिए साइबर स्पेस के दुरुपयोग को रोकना
  • तेजी से बदलती हुई प्रौद्योगिकी और अन्तराष्ट्रीय सहयोग के साथ कदम मिलाकर चलने के लिए साइबर कानूनों में यथापेक्षित संशोधनों का सुझाव देने
  • गृह मंत्रालय में संबंधित नोडल प्राधिकारी के परामर्श से साइबर क्राइम से संबंधित अन्य देशों के साथ हुई पारस्परिक विधिक सहायता संधि (एमएलएटी) के कार्यान्वयन से संबंधित सभी गतिविधियों का समन्वय करना


II. आई4सी योजना के घटक

  • राष्ट्रीय साइबर थ्रेट विश्लेषण यूनिट (TAU)
  • राष्ट्रीय साइबर क्राइम रिपोर्टिंग
  • संयुक्त साइबर क्राइम जांच टीम के लिए प्लेटफार्म
  • राष्ट्रीय साइबर क्राइम फोरेन्सिक प्रयोगशाला (NCFL) पारिस्थितिकी
  • राष्ट्रीय साइबर क्राइम प्रशिक्षण केन्द्र (NCTC)
  • साइबर क्राइम पारिस्थितिकी प्रबंधन यूनिट
  • राष्ट्रीय साइबर अनुसंधान एवं नवोन्मेषण केन्द्र


1. राष्ट्रीय साइबर जोखिम विश्लेषण यूनिट (TAU)

  • यह कार्य राष्ट्रीय साइबर जोखिम विश्लेषण यूनिट से पूरा किया जाएगा, जो विधि प्रवर्तन कार्मिकों, निजी क्षेत्र के व्यक्तियों, शैक्षणिक संस्थाओं और अनुसंधान संगठनों को साइबर क्राइम के सभी जटिल स्वरूपों का विश्लेषण करने में सामूहिक रूप से कार्य करने के लिए एक प्लेटफार्म मुहैया कराएगा
  • जोखिम विश्लेषण यूनिट साइबर क्राइम जोखिम आसूचना रिपोर्टे भी तैयार करेगी और विशेष साइबर क्राइम केन्द्रित चर्चाओं पर आवधिक परिसंवाद आयोजित करेगी
  • विधि प्रवर्तन विशेषज्ञों और उद्योग विशेषज्ञों को एक साथ लाने के लिए मल्टी-स्टेकहोल्डर माहौल तैयार करना


2. राष्ट्रीय साइबर क्राइम रिपोर्टिंग

  • यह इकाई विशेषज्ञ जांच टीमों का सृजन करने के लिए राज्य और केन्द्र स्तरों पर पहले से स्थापित जांच इकाईयों और अलग-अलग क्षेत्रों के विशेषज्ञों के साथ मिलकर काम करेगी
  • तेजी से बदलते साइबर क्राइम खतरों के संबंध में वास्तविक समय पर कार्रवाई करने की क्षमता रखेगी
  • साइबर और साइबर जनित अपराधों की जांच करने के लिए सहभागियों के साथ सहयोग करने में समर्थ होगी


3. संयुक्त साइबर क्राइम जांच टीम के लिए प्लेटफार्म

  • इसका उद्देश्य मुख्य साइबर क्राइम थ्रेट और लक्ष्यों के विरुद्ध आसूचनाजनित अभियान चलाना और समन्वित कार्रवाई करना
  • इससे साइबर क्राइम के विरूद्ध संयुक्त पहचान करने, प्राथमिकता, तैयारी और बहु-क्षेत्राधिकार रखने की सुविधा मिलेगी


4. राष्ट्रीय साइबर क्राइम फोरेन्सिक प्रयोगशाला (NCFL) पारिस्थितिकी

  • नई डिजीटल प्रौद्योगिकी और तकनीक के परिणाम के रूप में साइबर क्राइम का फोरेन्सिक विश्लेषण और जांच
  • जांच प्रक्रिया को सहायता प्रदान करने के लिए एक केन्द्र विकसित करना। एनसीएफएल और सम्बद्ध केन्द्रीय फोरेन्सिक प्रयोगशाला को विश्लेषण और जांच कार्यकलाप करने के लिए ऐसे नए तकनीकी विकासों के साथ रूबरू रखने के लिए सुसज्जित और स्टॉफ युक्त करना जिनका प्रयोग करके नए तरीके अपराध किए सकते हैं


5. राष्ट्रीय साइबर क्राइम प्रशिक्षण केन्द्र (NCTC)

  • राष्ट्रीय साइबर क्राइम प्रशिक्षण केन्द्र (NCTC) की स्थापना साइबर क्राइम, प्रभाव परिरोधन और जांच, क्रत्रिम साइबर माहौल में प्रायोगिक साइबर क्राइम पहचान, परिरोधन और रेपोर्टिंग प्रशिक्षण देने पर केन्द्रित पाठ्यक्रम के मानकीकरण पर केन्द्रित करने के लिए की जाएगी
  • क्लाउड आधारित प्ररिक्षण प्लेटफार्म पर दिए जाने वाले मैसिव ओपन ऑनलाइन कोर्स का विकास
  • राष्ट्रीय साइबर क्राइम प्रशिक्षण केन्द्र साइबर हमलों और इस प्रकार के साइबर अपराधों की जांच के बारे में उन्नत प्रकार के कृत्रिम प्रशिक्षण हेतु साइबर रेंज की स्थापना पर भी ध्यान देगI


6. साइबर क्राइम पारिस्थितिकी प्रबंधन यूनिट

  • पारिस्थितिकी प्रणाली विकसित करना जो शिक्षाविदों, उद्योग और सरकार को साइबर क्राइम आधारित सुस्थापित मानक प्रचालन प्रक्रियों को संचालित करने, उनकी जांच करने, साइबर क्राइम के प्रभावों और साइबार क्राइम पर कार्रवाई करने के क्षेत्र में एक साथ लाएगी
  • साइबर क्राइम का मुकाबला करने वाली पारिस्थितिकी प्रणाली के सभी घटकों के विकास के लिए शुरूआती (इनक्यूबेशन) सहायता प्रदान करना


7. राष्ट्रीय साइबर अनुसंधान एवं नवोन्मेषण केन्द्र

  • उभरती हुए प्रौद्योगिकी विकासों का पता करना, ऐसी संभावित असुरक्षा की पूर्व भविष्यवाणी करना जिनका साइबर अपराधियों द्वारा दुरूपयोग किया जा सकता है
  • सभी स्टेकहोल्डरों, चाहे वो शिक्षा के क्षेत्र, अथवा निजी क्षेत्र अथवा अन्तर-सरकारी संगठनों से हो, की क्षमता और विशेषज्ञता को परिपूर्ण करना
  • साइबर क्राइम, साइबर क्राइम प्रभाव परिरोधन और जांच पर केन्द्रित अनुसंधान और नवोन्मेष के क्षेत्र में ऐसे सभी संगठनों के साथ सामरिक भागदारी करना